Friday, January 10, 2014

हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ कड़ियाँ (3 से 9 जनवरी, 2014)

प्रस्तुत है आपके समक्ष हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ कड़ियाँ (3 से 9 जनवरी, 2014)

विविध संकलन

  1. आलोक नाथ, चुटकुले और सोशल मीडिया
  2. आम 'आदमी' चाहिए, पर आम 'औरत' नहीं
  3. Give him a break... have a Kitkat ... :)
  4. 2013 का सबसे अनूठा शब्द : 'सेल्फी'
  5. हिन्दी टाइपिंग - स्वेच्छा और अपेक्षा
  6. कल क्या किया ? 
  7. पापा पागल हो रहे हैं
  8. टीवी-बीवी भाषण-राशन
  9. गोला कबूतर 'गोलू' हो गया..!
  10. तसव्वुर-ए-ज़िंदगी...
  11. आँटी पुलिस बुला लेगी- गंदी बात गंदी बात!!
  12. "आप" मुझे दिल्ली ही रहने दें .. प्लीज !
  13. उस दिन तो प्रभू हमारे साथ थे
  14. सम्बन्धों को निभाने की मुश्किलें
  15. हिन्दी ब्लॉगिंग: दस साल बाद यह पड़ाव
  16. झाड़ू-मार इग्नेशियस
  17. इन्स्क्रिप्ट में ही टाइप करें
  18. 50वीं पोस्ट - अपने ब्लॉग पाठक से पहली वार्तालाप
  19. दिल्ली में संसदीय वामपंथियों का ‘आप’ राग !
  20. केजरीवाल को फ़िल्मी शहीद बनाता हिन्दू रक्षा दल.
  21. ‘आप’ की बढ़ती लोकप्रियता!
  22. आजाद भारत में कब तक विस्थापित रहेंगे महाराणा प्रताप ?

तकनीक

  1. Delete any Internet account
  2. निट्रो प्रो 8.5.1.10 आपके लिए।
  3. ब्लागर मे फेसबुक लाईक और सेयर बटन कैसे लगाएं?
  4. what is apple retina display क्‍या है रेटिना डिस्‍प्‍ले तकनीक   

यात्रा - वृतांत

  1. थार साइकिल यात्रा का आरम्भ
  2. lachhiwala ,Dehradoon , uttrakhand ,लच्छीवाला , देहरादून , उत्तराखंड
  3. फ़ुरसत में … 116 : जरासंध वध
  4. थार साइकिल यात्रा: जैसलमेर से सानू
  5. गडसीसर झील, जैसलमेर : पसरती धूप, निखरती आभा ! (Gadsisar Lake, Jaisalmer)
  6. सरगुजा का रामगिरी
  7. दूधसागर वॉटरफॉल(Dudhsagar waterfall) गोवा का अलौकिक सौंदर्य..........२
  8. Gun Hill , Mussorie , Uttrakhand ,गन हिल , मसूरी , उत्तराखंड
  9. kampty fall ,mussorie, uttrakhand , कैम्पटी फाल , मसूरी , उत्तराखंड 

साहित्य

  1. लोग !
  2. कि बाकी है --------
  3. चलो कहीं चलें
  4. काव्य संग्रह ...ऐ री सखी के लिए ....एक चिट्ठी दीदी चित्रा मुद्गल जी की
  5. mamta ki chhanv ममता कि छाँव
  6. सिर किसी की आँख फोड़ कर गया ...
  7. आ कुछ दूर चलें,फिर सोचें
  8. अब तो चलना सीख लिया है...
  9. सर्दी और गरीबन
  10. "कुहरा और सूरज" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')
  11. पापा, मुझे भी दिला दो रंग बिरंगी पतंग
  12. समय खुद लिखे हुऐ का मतलब भी बदलता चला जाता है
  13. पूस की एक रात..
  14. हास्य कविता-काका हाथरसी
  15. और उड़ना भी नहीं सिखाया ..
  16. यादों का वो इक सफ़र है नाम दे गया
  17. मर्यादा में बंधी औरत
  18. हम इमोशनल फूल है
  19. बात सीधी थी, भाषा के चक्कर में ज़रा टेढ़ी फँस गयी
  20. समझ में कहाँ आता है जब मरने मरने में फर्क हो जाता है
  21. "जहाँ में प्यार ना होता" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)
  22. एक गीत -इस मुश्किल मौसम में तुमने
  23. महाकवि काली दास
  24. तो इस पे बोसों की हम झालरें लगा देते............नवीन सी. चतुर्वेदी
  25. तनहाई
  26. उम्र के आखिरी पन्‍ने पर ....
  27. बोलती तस्वीर
  28. पड़े शीत की मार, आप ही मालिक मेरे-
  29. "मधुमक्खी" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')
  30. जब लिखो -
  31. ख़यालों की उलझन .......
  32. बिखरे रंग
  33. सर्दी ने ढाया सितम
  34. पलटी मार लेना कभी भी बहुत आसान होता है
  35. "सितम बहुत सरदी ने ढाया" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)
  

सार्वजनिक और सामूहिक

  1. गूगल पेज रैंक: कौन कितने पानी में?
  2. आखिर क्यों नहीं रक्षा कर पाते है हम हमारे महान आदर्शो के सम्मान की ?
  3. आइंस्टीन का पत्र राष्ट्रपति रूज़वेल्ट के नाम
  4. बिमल राय जैसा गैरमामूली फिल्मकार मर सकता है?
  5. कन्या भ्रूण हत्या :भारतीय समाज पर कलंक
  6. सेहतनामा /आरोग्य समाचार
  7. जाना एक योद्धा का...
 

ज्ञानवर्धक

  1. टिकाऊ विकास और जनहित याचिकाएं क्या होती हैं
  2. जनवरी माह के महत्वपूर्ण दिवस
  3. कौन है भारत में तरल ईंधन रॉकेट तकनीक का जन्मदाता ?
  4. कंप्यूटर और इंटरनेट से जुड़े महत्वपूर्ण शब्द - संक्षेप
  5. सांझी : मिथकीय परंपरा

विज्ञान

  1. सफलता की उड़ान : GSLV D5 और स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन
  2. जलती बर्फ बनेगी ऊर्जा का जबर्दस्त स्त्रोत
  3. एजोला: जेब और स्‍वास्‍थ्‍य दोनों के लिए मुफीद!

समाचार

  1. बिहार में पदाधिकारी के जनता दरबार में शिकायत करने पर मारी थप्पड़, भेजा जेल।

तस्वीरें और चित्र

  1. 'झाड़ू'को मिला 'कूड़ेदान '!
  2. योग से गुलांटी पर आ गए बाबा ?…
  3. कार्टून :- अब यह बेताल न कीला जाएगा ...
  4. धरती
  5. बस इतना याद रहे ... एक साथी और भी था
 

हास्य और व्यंग्य

  1. आम आदमी, खाँस आदमी
  2. किरायेदार
  3. सड़क पर लगे बेरीकेड -- आपका इम्तिहान !
  4. वो क्या देश चलायेगा जिसे घर में कोई नहीं सुना रहा है


कुल कड़ियाँ - 95


विशेष सूचना : ये सूची अभी लगभग अधूरी है, इसलिए निकट भविष्य में इस सूची में और भी कड़ियाँ जोड़ी जाएँगी। अगर आप को लगता है कि आपकी ब्लॉग - प्रस्तुति इस सूची में शामिल हो या होनी चाहिए थी, तो कृपया कमेंट (टिप्पणी), मैसेज और ईमेल के माध्यम से हमें बताएँ। धन्यवाद।। 

36 comments:

  1. काफी मेहनत से संकलित किये हैं लिक्स। विषयानुसार। अच्छा लगा देखकर।

    ReplyDelete
  2. वाह...बहुत बढ़िया।
    सप्ताहभर के लिए काफी मैटर है पढ़ने के लिए।
    आभार।

    ReplyDelete
  3. 95 सूत्र बहुत ज्यादा है :)
    चलिये देखते हैं कहाँ तक पहुँच पाते हैं !
    उल्लूक का सूत्र
    "समय खुद लिखे हुऐ का मतलब भी बदलता चला जाता है"
    को शामिल किया आभारी हूँ !

    ReplyDelete
  4. बढिया लिंक्स व प्रस्तुति , धन्यवाद

    ReplyDelete
  5. सार्थक हुआ आना ... मेहनत बहुत की गई है इस बार साफ दिख रहा है ... आभार हर्ष |

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर और विस्तृत लिंक्स...आभार आपके परिश्रम का...

    ReplyDelete
  7. Vistrat link ... Saptah ka lekha jokha ...
    Shukriya meri gazal ko shamil karne ka ...

    ReplyDelete
  8. मेरी पोस्ट "दूधसागर वॉटरफॉल(Dudhsagar waterfall) गोवा का अलौकिक सौंदर्य..........२" शामिल करने के लिए सादर धन्यवाद

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर और विस्तृत लिंक्स...

    ReplyDelete
  10. धन्यवाद आपका मेरे बिखरे रंगों को समेट कर यहाँ प्रस्तुत करने के लिये ! सभी लिंक्स आकर्षक व पठनीय नज़र आते हैं ! साभार !

    ReplyDelete
  11. एक सम्पूर्ण ब्लॉग चिठ्ठा भारतीय संस्कृति की तरह सर्वसमावेशी। शुक्रिया सेहतनामा को खपाने के लिए।

    ReplyDelete
  12. बहुत सुंदर संकलन.
    मेरे पोस्ट को स्थान देने के लिए आभार !!

    ReplyDelete
  13. सुन्दर व्यापक संकलन .

    ReplyDelete
  14. मेरी चिट्ठी शामिल करने के लिये धन्यवाद।

    ReplyDelete
  15. शुभ प्रभात
    आभार

    ReplyDelete
  16. बाप रे इतने सारे सूत्र एक जगह .. पुरे सप्ताह की सामग्री है .. बहुत खूब ...मेरे पोस्ट को शामिल करने के लिए आभार .

    ReplyDelete
  17. बहुत बढ़िया लिंक्स

    ReplyDelete
  18. एक नहीं चार चार सूत्र सम्मिलित किये गये हैं "उल्लूक के अखबार से" बहुत बहुत आभार !
    1.समय खुद लिखे हुऐ का मतलब भी बदलता चला जाता है
    2. समझ में कहाँ आता है जब मरने मरने में फर्क हो जाता है
    3. पलटी मार लेना कभी भी बहुत आसान होता है
    4.वो क्या देश चलायेगा जिसे घर में कोई नहीं सुना रहा है

    ReplyDelete
  19. हृदय से आभार....

    ReplyDelete
  20. बहुत आभारी हूँ

    ReplyDelete
  21. शामिल करने और इतने सारे बंधुओं से मिलवाने के लिए हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  22. बहुत सुन्दर विविध ब्लॉग आयाम लिए सुन्दर चिटठा प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  23. बहुत सुन्दर और विस्तृत लिंक्स..लिए सुन्दर चिटठा प्रस्तुति ...मेरे पोस्ट को स्थान देने के लिए आभार !!

    ReplyDelete
  24. निःसंदेह तारीफ़ के काबिल |शुक्रिया मित्र |

    ReplyDelete
  25. सुंदर संकलन..मेरे चिट्ठे को सम्मिलित करने के लिए आभार

    ReplyDelete
  26. उम्दा संकलन सूत्रों का |मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार व धन्यवाद
    आशा |

    ReplyDelete
  27. kramabaddha sanyojan achchha laga ...aabhaar mujhe shamil karne ke lie ...(hindi me nahi likha pane ke lie maafi)

    ReplyDelete
  28. बहुत अच्छे लिंक
    धन्यवाद

    आप सभी लोगो का मैं अपने ब्लॉग पर स्वागत करता हूँ मैंने भी एक ब्लॉग बनाया है मैं चाहता हूँ आप सभी मेरा ब्लॉग पर एक बार आकर सुझाव अवश्य दें
    राना2हिन्दी टेक तकनीक हिन्दी मे कम्प्युटर के निशुल्क शिक्षा हेतु पधारें

    ReplyDelete
  29. बहुत सुन्दर ब्लॉग चिट्ठा प्रस्तुति ..

    ReplyDelete
  30. बहुत ही सुंदर links संग्रह..
    prathamprayaas.blogspot.in-

    ReplyDelete

ब्लॉग - चिठ्ठा हिंदी ब्लॉगों को सहेजने के लिए एक सार्थक प्रयास और मुहिम मात्र है। कृपया इस सार्थक मुहिम में अपना अतुलनीय योगदान अवश्य दें। आपका सहर्ष धन्यवाद।